FD क्या है ? Fixed Deposit करने का तरीका, लाभ, ब्याज दर ! 2022

  • FD क्या है ? Fixed Deposit करने का तरीका, लाभ, ब्याज दर ! 2022

फिक्स डिपाजिट कैसे करें ?

नमस्कार दोस्तों आप सभी यह तो जानते ही होंगे कि आखिर फिक्स डिपाजिट क्या होता है और आपने शायद कभी ना कभी तो जरूर सुना होगा की फिक्स डिपाजिट क्या होता है हम इतने पैसों की फिक्स डिपाजिट करने पर आपके पैसे दो या 5 साल के अंदर पैसे डबल हो जाते हैं जब आपके पास पैसे मौजूद होते हैं और आप उनका सही स्थान पर इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं तो आपको फिक्स डिपाजिट का विचार जरूर आया होगा फिक्स डिपाजिट यानी एफडी क्या होती है कैसे होती है फिक्स डिपॉजिट पर हमें ब्याज दर कितना मिलता है और कितने समय बाद हमारे कैसे दुगनी हो जाती हैं और एफडी के कौन-कौन से फायदे हैं और समय पूरा होने पर फिक्स डिपाजिट को तोड़ने के क्या नुकसान हो सकते हैं आज हम आपको ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब देने वाले हैं ताकि आप फिक्स डिपाजिट से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी से अवगत रहें।

 • फिक्स्ड डिपॉजिट क्या होता है ? फायदे, ब्याज दर

यह एक आम आदमी अपनी सैलरी से कुछ ना कुछ शेविंग करने का पूरा प्रयास करता होगा ताकि वह अपने किसी भी आवश्यकता को पूरा करने के लिए काम में इस्तेमाल कर सके बैंक में सेविंग अकाउंट में हम अपना पैसा जमा करके रखते हैं उस पर ब्याज भी काफी कम मिलती है तो वैसे ही मैं बिना रिस्क की अच्छी ब्याज दर के साथ आपके पैसे निवेश करने का सबसे आसान और सुरक्षित तरीका है फिक्स डिपाजिट जिसमें आप पैसे एक निश्चित समय के लिए इन्वेस्ट कर सकते हैं जिस पर आपको ब्याज दर मिलती है जिसकी दर बचत खाते में जमा राशि पर मिलने वाले ब्याज से कई गुना ज्यादा होती है।

आप फिक्स डिपाजिट किसी भी बैंक के द्वारा करा सकती हो भारत में सभी प्रकार की बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट कराने की सुविधा प्रदान करती है फिक्स डिपाजिट जैसा कि आपको इसके नाम से ही प्रतीत हो रहा होगा कि इसमें एक एक समय के लिए पैसा इन्वेस्ट किया जाता है उसे ठीक से समय से पहले हमें पैसे निकालने होते हैं हालांकि हमें कभी अमर जेंसी होली पर फिक्स डिपाजिट तो लगाना पड़ जाता है तो फिक्स डिपाजिट कितने समय के लिए होती है और यह हमारे ऊपर निर्भर करता है फिक्स डिपाजिट शार्ट और लॉन्ग टर्म दोनों के लिए की जा सकती है एफडी कम से कम 1 हफ्ते और अधिक से अधिक 10 साल तक के लिए होती है।

 • फिक्स्ड डिपॉजिट पर कितना ब्याज मिलता है ?

हर बैंक अपने-अपने हिसाब से अलग-अलग फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दर तय करती है जो 6% से लेकर 9% सालाना के मध्य हो सकता है जिस समय आप एफडी करवाते हैं उस समय जो ब्याज दर होती है वही आपको अंत में मिलती है एफडी पर आपको कितना ब्याज दर मिल सकता है यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितने समय के लिए एफडी करवा रहे हैं।

जितनी अधिक समय के लिए आप एफडी करवाते हैं उतनी अधिक ब्याज दर लगती है एफडी पर इंटरेस्ट रेट्स ओं सेविंग अकाउंट में जमा राशि से कई गुना ज्यादा होती है नीचे हम आपको कुछ पॉपुलर बैंक के बारे में बता रहे हैं जो एफडी इंटरेस्ट रेट की लिस्ट बनाई गई है जिसमें आप यह जान सकते हैं किस बैंक की एफडी कराने से आपको कितना ब्याज दर मिल जाता है।

स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI) : 5.75% – 6.85%

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) : 5.70% – 6.75%

आईसीआईसीआई बैंक (ICICI) : 4.00% – 7.50%

HDFC Bank : 3.50% – 7.40%

सिंडिकेट बैंक : 4.75% – 6.80%

सेंट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया : 4.75% – 6.60%

बैंक ऑफ बरोदा : 4.50% – 6.85%

एक्सिस बैंक : 3.50% – 7.60%

कोटक महिंद्रा बैंक : 3.50% – 7.30%

किसी भी बैंक से एफडी कराने पर कितना ब्याज दर मिलेगा और एफडी पूरी होने पर टोटल कितना प्यार मिल सकता है यह कितने समय के लिए पैसे डबल हो जाएंगे यह सब आसानी से पता लगाने के लिए एफडी कैलकुलेटर पर जाना होगा।

 • फिक्स डिपाजिट कराने के फायदे

यदि आप फिक्स डिपाजिट करवाना चाहते हैं लेकिन उससे पहले यह पता करना चाहते हैं कि हमें कौन-कौन से फायदे मिल सकते हैं तो आपको अपने पैसों पर अच्छा-खासा ब्याज दर के साथ साथ किसी भी प्रकार की रिस्क लेने की जरूरत नहीं होती है आपके पैसे बिल्कुल सुरक्षित रहती हैं मार्केट में चाहे कितना भी उतार चढ़ाव चलता रहे यह राशि सुनिश्चित रहती है।

आपकी फिक्स डिपॉजिट पर मिलने वाले ब्याज आपकी मंथली quarterly भी कर सकते हैं। यदि आपको कभी अचानक से चीजों की आवश्यकता पड़ जाती है तो आप लोन भी ले सकते हो आपको अपनी एफडी के टोटल अमाउंट का 90% तक का लोन मिल सकता है जिस पर इंटरेस्ट रेट भी ज्यादा नहीं होती है एफडी पर हमें टेक्स्ट की भी छूट मिल जाती है। 80c tax deduction से हमें 150000 तक की अवधि में किसी प्रकार का टैक्स नहीं लगता है वरिष्ठ नागरिक को एफडी करने पर के अतिरिक्त इंटरेस्ट रेट भी मिलता है जो लगभग हर बैंक के द्वारा दिया जाता है।

उदाहरण के तौर पर एसबीआई एफडी प्लान में नार्मल सिटीजन को एफडी पर 5.25-6.25% ब्याज दर मिलती है वहीं सीनियर सिटीजन को उसके मुकाबले  6-6.75% interest मिलती है बैंक में हमें Reinvest का ऑप्शन भी मिल जाता है जिसके अंतर्गत हम अपनी एफडी राशि को दोबारा से नई आईडी में भी इन्वेस्ट कर सकते हैं।

 • ऑनलाइन फिक्स डिपॉजिट ऑफलाइन कैसे करें ?

फिक्स डिपाजिट करवाने के 2 तरीके होते हैं पहला ऑनलाइन और दूसरा ऑफलाइन यदि आपके पास बैंक का अकाउंट की इंटरनेट बैंकिंग आपके मोबाइल फोन में एक्टिवेट है तो आप बड़ी आसानी से घर बैठे ही फिक्स डिपॉजिट अकाउंट ओपन करवा सकते हैं बस आपको अपने इंटरनेट बैंकिंग में लॉगइन करना है और वहां पर आपको एफडी कराने वाला ऑप्शन मिल जाएगा उस ऑप्शन में आपको एक फॉर्म मिलता है उसे भरकर आप एडिट कर सकते हो।

फिक्स डिपॉजिट करने के लिए तरीका भी है इसके माध्यम से आप फिक्स डिपाजिट कर सकते हो आप बैंक में जाकर भी फिक्स डिपाजिट कराना चाहते हैं तो वहां से आपको फिर से लेकर आने के लिए फोरम लेना होता है जिसमें आपको अपना आइडेंटिटी और एड्रेस प्रूफ पैन कार्ड के साथ पासपोर्ट साइज का फोटो आवश्यक रूप से ले जाने होते हैं फॉर्म और आवश्यक डॉक्यूमेंट के साथ में उतनी धनराशि साथ में ले जाने हैं जितनी की फिक्स्ड डिपॉजिट कराना चाहते हैं मेरा सीमा पर आपको जमा करानी होगी जमा कराने के बाद आपको एक एफडी रिसिप्ट मिलेगी जो कि आप को संभालकर रखनी है।

 • समय से पहले एफडी तुड़वाने के नुकसान

जवाब फिक्स डिपाजिट करवा लेते हैं और उसमें हमारे पैसे सिस्टम के लिए डिपाजिट कर दिए जाते हैं जिससे में हमें इंटरेस्ट मिलता है तो कई बार आवश्यक काम या मार एजेंसी की वजह से हमें पैसों की अधिक जरूरत पड़ जाती है जिसकी वजह से हमें एफडी मैच्योर होने से पहले उन्हें तोड़ना पड़ता है तो ऐसे में आपको नुकसान भी झेलने पड़ सकते हैं समय पूरा होने से पूरा फिक्स डिपाजिट करवाने के लिए बैंक से हमें पेलेंटे मिलती है।

एसबीआई बैंक से ली गई 500000 से कम समय की एफडी तुड़वाने पर 0.5% की पेलेंटी लगती है तो ऐसी में सामने बैंक से करवाई गई एफडी तोड़ने पर भी आपको पहले इनकी देनी होती है इसके अतिरिक्त एफडी जो इंटरेस्ट हमें मिलता है वह भी कम रहता है।

एफडी करवाने से पहले यदि आपको लगता है कि समय पूरा होने से पहले हमें पैसों की जरूरत पड़ सकती है तो ऐसी में अपनी पूरी सेविंग करने के बाद ही थोड़ी थोड़ी पैसे जमा करके एचडी करवानी चाहिए। उदाहरण के तौर पर यदि आपके पास ₹500000 है और आप उनकी एफडी की बजे एक लाख की एफडी करवाएं जिससे यदि पैसों की जरूरत पड़ जाती है तो आपको एफडी करवाने की जरूरत ना पड़े और आपको किसी भी प्रकार का नुकसान ना झेलना पड़े।

मेजॉरिटी से पहले एफडी करवाने की स्थान पर एक दूसरा ऑप्शन एफडी पर लोन लेने का होता है फिक्स डिपॉजिट पर आप बड़ी आसानी से बैंक से लोन भी ले सकते हो जिस पर आपको अधिक ब्याज दर नहीं देनी होती है।

 • निष्कर्ष 

तो दोस्तों यहां पर मैंने आपको जानकारी दी है कि आप किस प्रकार फिक्स डिपाजिट कर सकते हैं और उसमें आपको को कौन-कौन से लाभ ब्याज दर मिलती है इन सभी विषयों के बारे में मैंने आपको विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान की है यदि आपको मेरी यह जानकारी पसंद आती है तो उसी बाकी लोगों के साथ में जरूर शेयर करना यदि आपको फिक्स डिपाजिट से संबंधित कोई भी सवाल पूछना हो तो नीचे कमेंट करके पूछ सकते हो।

Thank you for reading. Mind checking out our other blogs too.

3 thoughts on “FD क्या है ? Fixed Deposit करने का तरीका, लाभ, ब्याज दर ! 2022”

Leave a Comment